Jun 19, 2023
Adipurush Movie Controversy Explained (3 reasons) Adipurush Will Be Banned? FilmGigs. Victory

In this article, adipurush movie controversy is explained by giving 4 reasons. Read full article to know exactly what they are!

Adipurush Movie Controversy – Overview

नमस्कार दोस्तों, हमारे नए आर्टिकल par aapka swagat hai. जसेकि आप सभी लोगों को पता है, आदि पुरुष movie रिलीज हो चुकी है, लेकिन इसके पब्लिक रिव्यु ज्यादा अच्छे नहीं ए रहे हैं। उसके बारे में हम आज चर्चा करने वाले हैं, इस आर्टिकल के जरिए।

मैंने आप लोगों को अपने पिछले वाले पोस्ट में बताया था, कि आदिपुरुष जो है (one of the most) सबसे ज्यादा बजट वाली फिल्म है।600 करोड़ का बजट लगाने के बाद भी, उसके रिव्यू इतने ज्यादा अच्छे नहीं हैं। क्या विवादों के लिए हो राही है, उसके baare में हम jaanenge is article me.

रामायण जैसी धार्मिक फिल्म को प्रतिनिधित्व कर रही है आधा पुरुष फिल्म। फिल्म को बहुत सारे स्टेट्स में ban karne की भी बात की जा रही है। उदाहरण के लिए छत्तीसगढ़ में जो मुख्यमंत्री हैं, उनके भी समीक्षा कुछ अच्छे नहीं थे. उनको व्यक्तिगत रूप से यह वाली फिल्म बहुत ज्यादा आक्रामक लगी।

Adipurush Movie Controversy no.1 – Poor VFX

तो सबसे पहले जो पॉइंट है, जिसे इस मूवी को अच्छे रिव्यू नहीं मिल रहे हैं, वह है इस मूवी का घटिया वीएफएक्स। आदिपुरुष मूवी 6 से 7 महीनों पहले रिलीज होने वाली थी, लेकिन पब्लिक आक्रोश जो हुआ , BAN आदे पुरुष का ट्विटर ट्रेंड हुआ, उसकी वजह से फिल्म को पोस्टपोन किया गया। USS समय भी यही वजह थी – घटिया वीएफएक्स।

आदिपुरुष मूवी को और ज्यादा एडिट किया गया, उसके VFX को इम्प्रूव करने की कोशिश की गई, लेकिन 6 से 7 महीनों का टाइम लेने के बाद भी जब उसका ट्रेलर रिलीज हुआ, तो ट्रेलर में भी अच्छे रिव्यू नहीं मिल पाए। और मूवी में भी अच्छा रिव्यू नहीं आ रहा है जनता के तरफ से। adipurush movie controversy 1

अगर हम रामानंद सागर जी की रामायण की बात करेंगे, तो एकदम साधरण तारिके से रामायण का पाठ किया गया है। और जनता का तो इतना भी कहना है कि, अगर रामानंद सागर जी की रामायण को थिएटर पर एक बार फिर से स्क्रीन की जाएगी, तो वह आदिपुरुष से ज्यादा पैसे कुछ दिनों में ही काम लेगी।

Adipurush Movie Controversy No.2 – Inappropriate Dialogues

दूसरा विवाद जो है वो है, मूवी के डायलॉग्स की वजह से। मूवी में कुछ ऐसे डायलॉग्स हनुमान जी के द्वार बुलाए गए हैं, जो कि सिद्ध से हिंदू धर्म पर उनका अनादर दर्शन रहा है। हनुमान जी जैसे इतने सिद्ध महापुरुष, भगवान, के मुख से ऐसे शब्द बोले गए अच्छे नहीं दिखते।

मूवी में एक देखा गया है, जिस्में हनुमान जी जब सीता माता से पहली बार मुलाकात करते हैं, लंका में,तब unhone एक बड़ा सा रूप धारण कर रखा है। लेकिन असली रामायण के अनुसर, जब पहली बार हनुमान जी लंका में सीता माता से मिले, टैब उनका बहुत ही छोटा सा रूप था। तो मिस लीडिंग, और मिस गाइडिंग, डायलॉग्स दिखाये गए हैं इस फिल्म में, जो कि विशाल विकास में वैसा नहीं है।

Adipurush Movie Controversy No.3 – Lack Of Perfomance

तीसरा विवाद आता है – वह जो श्री राम, सीता माता का किरदार निभा रहे हैं, जनता के अनुसर और भी ज्यादा अच्छे किरदार अभिनेता, अभिनेत्री को चुना जा सकता था। श्री राम और सीता माता जी जैसे पवित्र रोल प्ले करने के लिए। इसमें कोई शक नहीं कि अभिनेता और अभिनेत्रियां अपनी फील्ड में बहुत ज्यादा अप्ले कर रहे हैं, बहुत अच्छा कम कर रहे हैं, उनके एक्ट की पूरी इज्जत करती है पब्लिक, लेकिन फिर भी वह एक्टर और एक्ट्रेस श्री राम और माता सीता का रोल अच्छे से प्ले नहीं कर पाये।

मूवी में एक सीन दिखाया गया है, जिसमें की सैफ अली खान जो कि रावण का रोल प्ले कर रहे हैं, वह अपने पुष्प वहां की जगह, चमकाद के ऊपर उड़ रहे हैं, और चमकादड़ के सिंह पकड़कर उसे उड़ा रहे हैं। जो पूरी तरह से मिस सूचना दिखा गई है फिल्म के द्वारा। मूवी को फनी बनाने के लिए, बहुत सारे आपत्तिजनक और इतने अनुचित डायलॉग स्क्रीन पे दिखाये गए हैं, जिसकी कोई निश्चित नहीं थी। रामायण जैसी पवन, और प्रसिद्ध इतिहास को दिखाने के लिए कॉमेडी की कोई निश्चित नहीं थी।

और अगर हम लोग देखना चाहेंगे, तो इस फिल्म के कुछ ही चुनने-चुने अच्छे रिव्यू होंगे, बाकी तो ज्यादा से ज्यादा पब्लिक को फिल्म उतनी पसंद नहीं एक राही है। आप लोग खुद सोचिये, कोई हमारी इतनी पंहुची हुई, इतनी प्रसिद्ध हिस्ट्री ,रामायण को अगर एक बहार का आदमी, दुसरे धर्म का आदमी, देखेगा तो उसके मन में किस तरह की इमेज पोट्रे की जा रही है, भ्रामक और गलत जानकारी वाली रामायण को दिखाकर।

Do you know which was Bollywood’s 1st movie? Click Here!

More Details

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *